उपायुक्त मनरेगा का ललितपुर हुआ स्थानांतरण, विदाई समारोह में सबकी आंखे हुई नम

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्रा

सोनभद्र। सरकारी नौकरी करना हर युवा का सपना होता है और नौकरी में होकर एक अलग पहचान बनना यह उसके व्यत्तित्व पर निर्भर करता है। आज जनपद के एक ऐसे अधिकारी का स्थानांतरण होना सबकी आंखों में मीठा – मीठा आंसू दे गया लेकिन नौकरी में स्थानांतरण एक सतत प्रक्रिया है। वह अधिकारी है उपायुक्त मनरेगा रमेश यादव, जिन्होंने जनपद में खण्ड विकास अधिकारी व उपायुक्त मनरेगा रहते हुए जनपद स्तरीय अधिकारियो और कर्मचारियों में अपने व्यत्तित्व को बनाये रखा। आज उनके विदाई समारोह में हर वो आंख नम थी जो उनके साथ कार्य कर चुके है। कुछ ऐसे है उपायुक्त मनरेगा रमेश कुमार यादव जिनका जनपद ललितपुर स्थानांतरण इसी पद पर शासन द्वारा किया गया। 

आज उनके स्थानान्तरण पर विकास भवन के सभागार में विदाई समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सौरव गंगवार द्वारा रमेश कुमार यादव के द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की गई तथा उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दिया।

वही  जिला विकास अधिकारी शेषनाथ चौहान ने कहा कि रमेश यादव जनपद में घोरावल बीडीओ और उपायुक्त मनरेगा के तौर पर कार्य किया। शासन के विकास कार्यो को लेकर पूरी निष्ठापूर्वक सम्पन्न कराया है। जनपद में सरकार की योजनाओं को बड़ी ही गम्भीरता से लेते हुए समय पर पूर्ण कराने में उनका सहयोग रहा है। विश्व की बड़ी महामारी कोरोना काल मे भी उन्होंने जिलाधिकारी द्वारा दी गयी सभी कार्यो को जिम्मेदारी पूर्वक किया।हम अपनी और अपने समस्त कर्मचारियों की तरफ से उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देता हूं।

वही उपायुक्त मनरेगा रमेश यादव ने कहा कि जनपद में मेरा जो कार्यकाल रहा उसमें सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने सहयोग दिया है। जनपद में कुछ ऐसे भी साथी व सहयोगी रहे जिनका साथ हर वक्त उन्हें मिला। विकास खण्ड अधिकारी रहते हुए घोरावल में बहुत से ऐसे कार्य कराया गया जिनकी आज भी क्षेत्रवासियों द्वारा सराहना की जाती है। जनपद की भौगोलिक परिस्थितया व आदिवासी बाहुल्य होने कि वजह से यहाँ बहुत कुछ करने की आस अभी भी मन मे लिए जा रहा हूँ अगर शासन ने मौका दिया तो जरूर उन कार्यो को करने का प्रयास किया जाएगा।

बताते चले कि रमेश यादव जनपद में खण्ड विकास अधिकारी घोरावल के पद पर उस वक्त आये जब यह ब्लाक मनरेगा में हुए भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच से जूझ रहा था। उन्होंने बीडीओ के पद पर रहते हुए ग्राम प्रधानों व क्षेत्र पंचायत सदस्यों के साथ समन्वय बनाते हुए विकास को नई गति दिया और विकास कार्यो में भ्रष्टाचार को कुंद किया। इस बीच वर्ष 2023 में उनका प्रमोशन शासन द्वारा उपायुक्त मनरेगा के पद पर किया गया। वह जनपद में मनरेगा के तहत सरकार की योजनाओं अमृत उपवन से पर्यावरण संरक्षण व अमृत सरोवर से भूगर्भ जलस्तर को बढ़ाने कार्य किया।

 

इस दौरान परियोजना निदेशक राम शिरोमणि मौर्य, उपायुक्त स्वतः रोजगार सरिता सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी रमाशंकर यादव, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारी गण एवं विकास भवन के समस्त कर्मचारियों के साथ-साथ जनपद के समस्त अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा भी उपस्थित रहे।

Leave a Comment