अनुच्छेद 370 और 35-ए का हटाया जाना हमारे प्रेरणास्त्रोत पुरुषों को सच्ची श्रद्धांजलि: मयंकेश्वर शरण सिंह

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

राजन

मिर्जापुर। डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर भारतीय जनता पार्टी जिला कार्यालय के सभागार में भाजपा जिला अध्यक्ष बृजभूषण सिंह की अध्यक्षता में संगोष्ठी का आयोजन किया गया ।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उप्र सरकार के राज्यमंत्री व संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग राजा मयंकेश्वर शरण सिंह शामिल हुए जिनका स्वागत भाजपा जिला अध्यक्ष ने किया।

गोष्टी को संबोधित करने से पूर्व मुख्य अतिथि ने डॉ0 मुखर्जी को नमन करते हुए अखण्ड भारत की संकल्प सिद्धि की परिकल्पना को साकार करने के लिए कहा कि एक राष्ट्र के इतिहास में विरले ही ऐसे क्षण आते हैं जब एक अद्भुत निर्णय से उसका प्रारब्ध निर्मित हो जाता है । ऐसे निर्णयों से इतिहास की धारा मुड़ जाती है । राष्ट्र की यात्रा एक नई ऊर्जा और आत्मविश्वास से अनुप्राणित हो उठती है । सफलताओं और उपलब्धियों की गाथा का प्रभाव समस्त राष्ट्र जीवन पर पड़ता है । पूरा राष्ट्र इसके प्रभाव से पुष्पित और पल्लवित हो उठता है ।

धारा 370 और 35-ए की समाप्ति एवं जम्मू – कश्मीर का पुनर्गठन भारत के इतिहास में वैसा ही एक अद्भुत निर्णय है । एक ऐसा निर्णय जिसके लिए पूरा राष्ट्र सात दशकों से प्रतीक्षारत था । ऐसे ऐतिहासिक निर्णय के लिए अत्यधिक दृढ़ राजनैतिक इच्छा शक्ति एवं एक ऐसे नेतृत्व की आवश्यकता थी जो आत्मविश्वास से परिपूर्ण और दृढ़ निश्चयी हो । जैसे ही यह निर्णय लिया गया और जिस क्षण संसद के दोनों सदनों ने इसपर विचार करके पारित किया, पूरे देश ने एकजुट होकर इसका उत्सव मनाया । इतिहास के पृष्ठों में वे क्षण स्वर्णाक्षरों में अंकित हो चुके हैं । अनुच्छेद 370 और 35-ए का हटाया जाना हमारे प्रेरणास्त्रोत पुरुषों को सच्ची श्रद्धांजलि है ।

डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इसके लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया । अनुच्छेद 370 के कारण जम्मू कश्मीर से रक्तपात भरे युग का अंत हुआ है । अनुच्छेद 370 एक अस्थायी उपबंध था जिसको कभी न कभी हटना ही था लेकिन पिछली सरकारों ने वोट बैंक के लालच में उसको हटाने की हिम्मत नहीं की । भाजपा की सरकार ने जम्मू कश्मीर के लोगों के हितों के लिए यह फैसला लिया। इस राज्य में 70 साल तक कश्मीरियत में गरीबी घर कर गई जिसको प्रधानमंत्री की इच्छा शक्ति ने हटाया । 

भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि हमारे देश का लोकतंत्र इतना मजबूत है लेकिन जम्मू कश्मीर में दशकों तक लाखों ऐसे लोग थे जिनको लोकसभा में वोट का अधिकार था लेकिन वे विधानसभा और स्थानीय और स्थानीय निकायों में वोट नहीं डाल पाते थे । प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के अमिट निर्णय से अब सभी को यह अधिकार मिल गए है । केन्द्र की इस दृढ़ निर्णय से इस राज्य में भी जनप्रतिनिधि वहां के लोगों द्वारा चुना जाएगा । नागरिकों के जीवन में इज ऑफ लिविंग बढ़ेगी । देश के नागरिकों को जो उनका हक प्राप्त है वह कश्मीर के लोगों को प्राप्त हो रहा है ।

उक्त संगोष्ठी का संयोजक एवं संचालन जिलामंत्री कौशल श्रीवास्तव ने किया ।


उक्त संगोष्ठी में मुख्य रूप से  विधायक मड़िहान रमाशंकर सिंह पटेल,  विधायक नगर पं0 रत्नाकर मिश्रा, एमएलसी श्याम नारायण सिंह, अध्यक्ष जिला पंचायत राजू कन्नौजिया, चेयरमैन जिला सहकारी बैंक लि0 डॉ0 जगदीश सिंह पटेल, पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा मनोज जायसवाल, पूर्व जिला संयोजक दिनेश तिवारी, जिला उपाध्यक्ष निर्मला राय, दिनेश प्रताप सिंह, विपुल सिंह, अमित कुमार पाण्डेय, रविन्द्र नारायण सिंह पटेल, जिला महामंत्री दिनेश वर्मा, जिलामंत्री हेमन्त त्रिपाठी, नितिन गुप्ता, चिन्तामणि मौर्या, संजय यादव, जिला मीडिया प्रभारी ज्ञान प्रकाश दूबे, शिव शरण राय, प्रणेश प्रताप सिंह, पूर्व ब्लॉक प्रमुख अनमोल सिंह, प्रमुख लालगंज जयन्त कुमार के साथ – साथ जिले के सभी मंडल अध्यक्ष / मंडल प्रभारी, मोर्चों के जिलाध्यक्ष एवं सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।

Leave a Comment