जिले में बढ़ते प्रदूषण के रोकथाम को लेकर की आवाज बुलंद, विभिन्न मांगो सहित डीएम को सौप पत्र।

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्रा

जिले में बढ़ते प्रदूषण के खिलाफ डीएम को सौप पत्र

सोनभद्र। कलेक्ट्रेट परिसर में शुक्रवार को भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारी द्वारा जिले में बढ़ते प्रदूषण के रोकथाम को लेकर की आवाज बुलाओ अपने विभिन्न मांग पत्रों सहित डीएम को सौप पत्र।
वही दशाराम यादव जिला मंत्री भारतीय मजदूर संघ सोनभद्र ने बताया कि
पर्यावरण प्रदुषण की समस्या भारत ही नहीं पूरे विश्व में एक गंभीर समस्या बनी हुई है। प्रदुषण के कारण मनुष्य को कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। वर्तमान में पेड़ों की कटाई काफी बढ़ गई है, पर उसकी तुलना में वृक्षारोपड कम हो रहा है. इस कारण वातावरण का तापमान पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष बढ़ गया, इससे कई प्रकार की समस्या आई। सही प्रकार से जल संरक्षण न हो पाने के कारण भूगर्भिय जल स्तर नीचे जाने लगा है। इससे कई स्थानों पर पानी की समस्या बढ़ने लगी है।वही भारतीय मजदूर संघ इस ज्ञापन के माध्यम से आपसे यह मांग करता है कि जिले में होने वाले सभी प्रकार के प्रदुषणों पर विशेष ध्यान देते हुए इसके रोकथाम हेतु तत्काल उपाय किये जाय, साथ ही निम्न बिंदुओ पर विशेष ध्यान दिया जाय।

  1. वायु प्रदुषण पर विशेष ध्यान दिया जाय, एवं इसे कम करने हेतु उचित उपाय किया जाय, जिससे लोगो के स्वास्थ्य पर असर न हो, साथ ही सभी प्रमुख शहरों के प्रमुख स्थलों पर प्रदुषण का स्तर दर्शाने वाला इलेक्ट्रानिक बोर्ड लगवाया जाय।
  2. नदी, नालो के पानी को पदुषित होने से बचाने हेतु उचित उपाय किया जाय।
  3. अनावश्यक पेड़ों की कटाई पर रोक लगाई जाय, एवं वृक्षारोपण पर विशेष ध्यान दिया जाय।
  4. सिंगल यूज प्लास्टिक से बने सामानों की बिक्री पर तुरंत रोक लगाई जाय।
  5. जल संरक्षण पर विशेष ध्यान देते हुए सभी सरकारी एवं निजी आवास, सरकारी एवं निजी क्षेत्रों के कार्यालयों में रूफटाप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के माध्यम से वर्षा के जल को भू-जल में रिचार्ज करने की नियमानुसार व्यवस्था की जाय।
  6. शहरों से निकलने वाले कचड़ों के प्रबंधन की नियमानुसार उचित व्यवस्था की जाये।
  7. ज्यादा प्रदुषण फैलाने वाले उद्योगों पर कड़ी कार्यवाही की जाय।
  8. ध्वनी प्रदुषण से स्वास्थ्य पर कई प्रकार की समस्या आ रही है. इसके रोकथाम पर विशेष ध्यान दिया जाय।
  9. औडी मोड़ से शक्तिनगर फोरलेन सड़क बनी हुयी है परन्तु जाम होने से हमेशा दुर्घाटना होता रहा है जिसको दूर किया जाय।
  10. एन०सी०एल०, कृष्णशिला, बीना, ककरी, खड़िया परियोजना में भारी मात्रा में कोयले की ट्रान्सपोर्टिंग होती है कई राज्यो और परियाजनाओं की गाड़ीया यहां चलती हैं परन्तु एन०सी०एल०द्वारा कही गाड़ियो को खड़ा करने का पार्किग नही बनाया गया है। जिससे गाड़िया रोड पर खड़ी रहती हैं। जिससे दुर्घटना होती है एन०सी०एल० परियोजना द्वारा गाडियो को खड़ा करने के लिए अविलम्ब पार्किंग बनाया जाय। जिससे दुर्घटना पर रोक लग सके।
  11. शक्तिनगर से वाराणसी रोड पर कई परियोजनाओं द्वारा राख की ट्रान्सपोर्टिंग होती है जो रोड के दोनो साइड में राख गिरा देते हैं जिसको उठाते नहीं है जिससे पर्यावारण दूषित हो रहा है। इस पर प्रशासनीक अंकुश लगाया जाय।12. जनपद के हर क्षेत्र में जंगल में प्रतिवर्ष गर्मी के महिने में आग लग जाती है जिससे छोटे पेड जल के नष्ट हो जाते हैं उस पर रोक लगाया जाय।वही भा०म०सं०आपसे अपेक्षा करता है कि उक्त सभी बिन्दुओं पर विशेष ध्यान देते हुए प्रदुषण (वायु, जल, ध्वनी) के रोकथाम हेतु आवश्यक कार्यवाही की जाय जिससे पर्यावरण प्रदुषण की समस्याओं से बचा जा सके।
    ज्ञापन सौपने वालों में रामबली यादव भारतीय मजदूर संघ जिला उपाध्यक्ष सोनभद्र और रोहित कुमार सीताराम सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।

Leave a Comment