सबको शिक्षा को लेकर अभाविप की देशव्यापी मुहिम “परिसर चलो अभियान”भूपेश चौबे

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्रा

0 काशी प्रांत में ‘परिसर चलो यात्रा’ का हुआ शुभारंभ

0 परिसरों को पुनः जीवंत बनाने एवं परिसर संस्कृति विकसित करने हेतु

0 अभाविप काशी प्रांत में “परिसर चलो रथ” से जागरूक होंगे शिक्षा क्षेत्र के सभी हितधारक

सोनभद्र। रावटसगंज स्वर्ण जयंती चौक पर सोमवार देर शाम आयोजित की गई सभा में वक्ताओं ने सभा को संबोधित करते हुए बताया कि दुद्धी तथा अमेठी में रथों का हुआ शुभारंभ,प्रांत के विभिन्न जिलों से होते हुए बीएचयू तथा इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 6 जुलाई को संपन्न होगी यात्रा मुख्य अतिथि सदर विधायक भूपेश चौबे, परिसरों को जीवंत बनाने एवं परिसर संस्कृति को पुनर्स्थापित करने हेतु अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा देशव्यापी मुहिम “परिसर चलो अभियान” चलाया जाएगा, इसी के निमित्त अभाविप के काशी प्रांत में “परिसर चलो रथ” के माध्यम से जागरूकता अभियान चला विद्यार्थियों को परिसर जाने हेतु प्रेरित किया जाएगा। अभाविप काशी प्रांत द्वारा आयोजित “परिसर चलो यात्रा” के अंतर्गत सोनभद्र स्थित दुद्धी तथा अमेठी से रथ चलाया जा रहा है, जिसका आज विधिवत शुभारंभ किया गया है। दुद्धी से चलाया गया रथ सोनभद्र, मीरजापुर, भदोही, वाराणसी जिला, गाजीपुर, चंदौली तथा वाराणसी महानगर से होते हुए 6 जुलाई को काशी हिंदू विश्वविद्यालय पहुंचेगा वहीं अमेठी से यात्रा आरंभ हो कुशभवनपुर, मछलीशहर, जौनपुर, प्रतापगढ़, कौशांबी, प्रयाग जिला तथा प्रयाग महानगर से होते हुए 6 जुलाई को इलाहाबाद विश्वविद्यालय पहुंचेगी।
परिसर में विद्यार्थियों की घटती उपस्थिति से उपजे चिंतन के परिणामस्वरूप “परिसर चलो अभियान” वर्ष भर विद्यार्थी परिषद चलाएगी। परिसर चलो अभियान एक जनांदोलन है, इसको दो-चरणों में 10+2 के विद्यार्थियों से लेकर विश्वविद्यालय परिसरों में अध्ययनरत छात्रों के मध्य वर्षभर चलाने की योजना है। प्रथम चरण में छात्र संवाद, छात्र संसद, प्रेरक उद्बोधनों, विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से विद्यार्थियों की परिसरों के प्रति रुचि बढ़ाने एवं परिसरों में छात्रसंघ, विद्यालयों में प्रायोगिक कक्षाएं तथा कला, खेल, सेवा और पर्यावरण संबंधी प्रकल्प की शुरुवात से परिसरों में सकारात्मक माहौल बनाने पर जोर दिया जाएगा। द्वितीय चरण में शिक्षा क्षेत्र के सभी हितधारकों से संवाद कर इस दिशा में कार्य कर परिसर जीवंत बनाने, रोज़गार सृजन का केंद्र बनाने एवं परिसर को रुचिकर बनाने हेतु कैंटीन, खेल प्रांगण तथा छात्र कल्याण केन्द्र जैसी व्यवस्थाओं को उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा।
दुद्धी में रथ का शुभारंभ करते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य पायल राय ने कहा कि,” कोरोना काल के बाद शैक्षिक परिसरों में विद्यार्थियों की उपस्थिति दर में गिरावट दर्ज की गई है, जिससे परिसर संस्कृति को विद्यार्थी भूलते जा रहे हैं और यह उनके सर्वांगीण विकास में बाधक सिद्ध हो रही है। परिसर एवं कक्षा की शिक्षा एक विद्यार्थी के समाजीकरण की प्रक्रिया का हिस्सा है जिससे वह समाज और राष्ट्र के प्रति अपना दायित्व समझता है।अभाविप काशी प्रांत द्वारा चलाए जा रहे “परिसर चलो रथ” के माध्यम से जिलों में जन-जागरुकता अभियान चलाया जाएगा।”
अभाविप काशी प्रांत के प्रांत संगठन मंत्री अभिलाष मिश्र ने सभी कार्यकर्ताओं को इस भव्य यात्रा की सफलता हेतु शुभकामनाएं दी और इस तरह के प्रयासों को आज की आवश्यकता बताया।

अभाविप काशी प्रांत के प्रांत सह-मंत्री नमन श्रीवास्तव ने कहा कि,” यात्रा के दौरान चौपाल लगाई जाएगी, संगोष्ठी की जाएगी, नुक्कड़ नाटक किया जाएगा, पत्रक वितरण किया जाएगा, परिसर संस्कृति की महत्ता को बताया जाएगा और परिवारों में जाकर भी विद्यार्थियों को परिसर जा कर शिक्षा ग्रहण करने को प्रेरित किया जाएगा। रथ को भव्य स्वरूप से सजाने की योजना तैयार की गई है, सभी जिलों के कार्यकर्ताओं द्वारा बैठक कर इसको भव्य बनाने हेतु प्रयास किए जा रहे हैं। इन रथों के साथ विद्यार्थियों का समूह निरंतर चलता रहेगा और सभी प्रमुख जगहों पर इसका भव्य स्वागत भी किया जाएगा।

इस अवसर पर शशांक मिश्रा, कुँवर चौबे, मृगांक दुबे, राहुल जालान, सत्यम शुक्ल, अनमोल सोनी, आशुतोष मोदनवाल, आलोक सोनकर, वैभव पांडेय, अमृतांश दुबे आदि उपस्थित रहे।

Leave a Comment