पच्चीस नाबालिग बाल श्रमिकों को कराया गया मुक्त

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्र

चोपन, ओबरा मार्केट से पच्चीस बच्चों को बाल श्रम से कराया गया मुक्त

सोनभद्र। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के दिशा निर्देश पर चोपन और ओबरा बाजार के विभिन्न स्थानों पर होटलों, ढाबों एवं मोटर पार्ट्स की दुकानों पर बालश्रम उन्मूलन अभियान श्रम विभाग, जिला प्रोवेशन विभाग, थाना मानव तस्करी रोधी एवं विशेष किशोर पुलिस इकाई की संयुक्त टीम द्वारा संयुक्त अभियान चलाया गया। इस अभियान के दौरान कुल पच्चीस बच्चों को बालश्रम से मुक्त कराते हुए सम्बंधित बीस नियोक्ताओ पर विधिक कार्यवाही की गयी।

जिला बाल संरक्षण इकाई से ओआरडब्ल्यू शेषमणि दुबे द्वारा बताया गया कि बाल श्रम, बाल भिक्षा वृत्ति, बाल विवाह एवं बाल तस्करी के रोकथाम हेतु जनपद के सभी ब्लाको में ब्लाक बाल कल्याण एवं संरक्षण समिति की बैठक जुलाई माह से आहूत कराते हुए कार्ययोजना तैयार किया जाएगा जिससे ग्राम बाल कल्याण एवं संरक्षण समिति के माध्यम से ग्राम स्तर पर बच्चों के सुरक्षा एवं संरक्षण हेतु पात्र बच्चों का चिन्हांकन कराते हुए उन्हे विभाग द्वारा संचालित योजनाओं से लाभान्वित कराया जाएगा साथ ही बाल विवाह, बाल श्रम एवं बाल भिक्षा वृत्ति से मुक्त कराये गये बच्चों का समिति के माध्यम से अनुश्रवण कराया जाएगा।


टीम मे मौकै पर श्रम प्रवर्तन अधिकारी रामकुमार,शिवेन्द्र प्रताप सिंह, दिनेश चंद्र सरोज, थाना मानव तस्करी रोधी एवं विशेष किशोर पुलिस इकाई प्रभारी निरीक्षक रामजी यादव, मुख्य आरक्षी धनंजय यादव, आरक्षी अमन द्विवेदी, मुख्य आरक्षी मंजीत कुमार पटेल ,चाइल्ड हेल्पलाइन यूनिट से सुपरवाइजर धर्मवीर सिंह उपस्थित रहे।

Leave a Comment