कूड़ा करकट बीनने वाले बच्चो के पुनर्वास की बनी कार्य योजना

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्रा

बाल भिक्षा वृत्ति करने वाले बच्चों के पुनर्वास के लिए चलाया जायेगा रेस्क्यू अभियान

सोनभद्र। बाल कल्याण समिति कार्यालय कक्ष में बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष अखिल नारायण देव पाण्डेय की अध्यक्षता में जनपद स्तर पर बाल भिक्षा वृत्ति एवं सड़क के किनारे कूड़ा करकट बीनने वाले बच्चों के पुनर्वास एवं संरक्षण प्रदान कराये जाने के लिए बनायी गयी कार्ययोजना बनाई गई।

जिला बाल संरक्षण इकाई से ओआरडब्ल्यू शेषमणि दुबे द्वारा बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2023-24 मे विषम परिस्थितियों में रहने वाले बच्चों एवं बाल भिक्षावृत्ति मे लिप्त कुल चौदह नाबालिग बच्चों को मुक्त कराते हुए बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। समिति के आदेशानुसार सभी बच्चों को जिला बाल संरक्षण इकाई व मानव तस्करी रोधी इकाई टीम द्वारा उनके परिवार में पुनर्वासित करा दिया गया था। जनपद मे कुल 14 हाँट-स्पाट का चयन जिला बाल संरक्षण इकाई एवं चाइल्ड हेल्पलाइन यूनिट के संयुक्त टीम द्वारा किया गया है।

बाल कल्याण समिति के सदस्य अमरेश चन्द्र पाठक व रंजना चौबे द्वारा बताया गया कि माह मई एवं जून मे बाल भिक्षा वृत्ति एवं सड़क के किनारे कूड़ा करकट उठाने वाले बच्चों के पुनर्वास के लिए विशेष अभियान चलाया जायेगा,जिसके लिये कार्ययोजना तैयार की जा रही हैं।

बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष अखिल नारायण देव पाण्डेय द्वारा बताया गया कि यदि कही बाल भिक्षा वृत्ति, बाल श्रम, बाल तस्करी, वाल विवाह संबंधित सूचना प्राप्त होती है तो तत्काल सूचना सम्बंधित थाने, बाल कल्याण समिति, मान तस्करी रोधी इकाई, जिला बाल संरक्षण इकाई, एवं चाईल्ड हेल्पलाइन टोल फ्री नम्बर 1098 पर सूचित करें।


मौके पर जिला बाल संरक्षण इकाई से संरक्षण अधिकारी रोमी पाठक, आकांक्षा उपाध्याय, शेषमणि दुबे, चाईल्ड हेल्पलाइन यूनिट से नीलू यादव, सीमा शर्मा, सुधा गिरि, अमन कुमार सोनकर, बजरंग सिंह, धर्मवीर सिंह ,अनील यादव,सत्यम् चौरसिया, अंशू गिरि, रविन्द्र कुमार, थाना मानव तस्करी रोधी इकाई टीम आदि उपस्थित रहे।

Leave a Comment