बाल विवाह रोकने के लिए कंट्रोल रूम की हुई स्थापना

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने के लिए बाल संरक्षण टीम अलर्ट

सोनभद्र। जनपद में विशेष पर्व अक्षय तृतीया के अवसर पर होने वाले बाल विवाह को रोकने के लिये चाईल्ड हेल्प लाइन यूनिट कार्यालय विकास भवन मे कन्ट्रोल रूम की स्थापना  किया गया है।

बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी के निर्देश के क्रम में बाल विवाह रोकथाम हेतु बनाये गये कार्ययोजना के अनुसार जनपद के विभिन्न स्थानों पर विशेष अभियान चलाया जा रहा है। संरक्षण अधिकारी रोमी पाठक व गायत्री दुबे द्वारा बताया गया कि 10 मई को अक्षय तृतीया है। इस दिन बड़ी संख्या में बाल विवाह होते हैं एवं अन्य शुभ लग्नो के साथ-साथ विशेष रूप से अक्षय तृतीया को निगरानी में रखना आवश्यक है। जिले में कही भी बाल विवाह न हो, इसके लिए जिलेवासियो से जिला प्रशासन का अनुरोध है कि विवाह पूर्व विवाह के लिए निर्धारित आयु का सत्यापन आवश्यक रूप से कर ले की लड़के की उम्र 21 साल और लड़की की उम्र 18 साल पूरी हो चुकी है।


जिला बाल संरक्षण इकाई के ओआरडब्ल्यू शेषमणि दुबे द्वारा बाल विवाह के खिलाफ आवाज उठाएं, आओ मिलकर इसे जड़ से मिटाएं का आवाहन करते हुए बताया गया कि वित्तीय 2024-25 मे जनपद स्तर पर कुल 12 बाल विवाह रोके गये। बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी के निर्देश के क्रम में चाईल्ड हेल्प लाइन यूनिट कार्यालय विकास भवन लोढी मे बाल विवाह रोकथाम हेतु कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी है। इस कमेटी में ब्लाक स्तरीय नामित नोडल अधिकारी द्वारा क्षेत्र में निगरानी रखी जायेंगी साथ ही सभी नागरिकों से बाल संरक्षण टीम द्वारा अपील किया गया है कि लड़के की उम्र 21 साल और लड़की की उम्र 18 साल पूरी होने पर ही शादी करें। यदि किसी व्यक्ति को बाल विवाह की जानकारी प्राप्त होती है तो सम्बंधित सूचना ग्राम प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी, क्षेत्रीय लेखपाल, थाना, बाल कल्याण समिति, विशेष किशोर पुलिस इकाई, या मो0 न0 8318953732 एवं चाईल्डलाईन टोल फ्री नंबर 1098 पर कॉल करके अविलंब सूचित करें। आपकी जानकारी की गोपनीयता बनाए रखी जाएगी जिससे नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही की जा सके।

इस मौके पर जिला बाल संरक्षण इकाई से आकांक्षा उपाध्याय, विपिन कुमार कनौजिया, चाईल्ड हेल्पलाइन यूनिट से नीलू यादव, बजरंग सिंह, धर्मवीर सिंह, सीमा शर्मा,सुधा गिरि,अनील यादव, सत्यम् चौरसिया, अंशू गिरि, थाना मानव तस्करी रोधी इकाई टीम से प्रभारी निरीक्षक रामजी यादव, धनञ्जय यादव मुख्य आरक्षी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Comment

[democracy id="1"]