चौकी इंचार्ज ने पीड़ित को बर्बाद करने की दी धमकी : आरोप

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

अमित मिश्रा

0 कोन थाना क्षेत्र के चकरिया चौकी का मामला

0 पीड़ित ने एसपी को पत्र लिख लगाई न्याय की गुहार

सोनभद्र। कोन थाना क्षेत्र के चकरिया चौकी पुलिस द्वारा एक पीड़ित को फर्जी मुकदमे में फंसा कर विभिन्न धाराओं में पवन करने व धमकाने के मामले में पीड़ित ने बुधवार को एसपी को पत्र लिखकर लगाई न्याय की गुहार ।

पीड़ित उमाशंकर यादव ने बताया कि चौकी इंचार्ज- चकरिया मनोज सिंह के द्वारा प्रार्थी को प्रताड़ित करने तथा पूरे परिवार को फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दी जा रही हैं वही प्रार्थी उमाशंकर यादव पुत्र स्व० रामनन्दन यादव निवासी ग्राम- ससनई थाना-कोन, जिला सोनभद्र का निवासी है। प्रार्थी एक शांति प्रिय व्यक्ति है। प्रार्थी के ऊपर आज तक कोई भी आपराधिक मुकदमा पंजीकृत नही है। प्रार्थी शुद्ध रूप से किसान है। घटना दिनांक-05.05.2024 को रात्रि 11.00 बजे की है। प्रार्थी के गांव के ही डा० समीर राय तथा संदीप पुत्र छोटेलाल के बीच झगड़ा हुआ था, प्रार्थी का घर घटना स्थल से लगभग 3 किमी० दूर है तथा उस वक्त प्रार्थी अपने घर में सो रहा था फिर भी चकरिया पुलिस चौकी इंचार्ज द्वारा दोनों उपरोक्त पक्षों को पाबन्द करते हुए डा० समीर राय के पक्ष की तरफ प्रार्थी को भी बिना कसूर पाबन्द कर दिया गया है। इसी बीच दिनांक-08.05.2024 को प्रार्थी पुलिस चौकी इंचार्ज चकरिया को अपने मोबाइल नं0 6306518370 से फोन कर प्रार्थी गुजारिश किया कि प्रार्थी घटना स्थल पर नही था तो पाबन्द नही किया जाना चाहिए था। इस बात पर चौकी इंचार्ज बौखलाकर प्रार्थी को काफी अपमानजनक बातें कहने लगे और धमकी देने लगे कि आज ही तुम्हें उठाकर लाऊँगा, सैकड़ों लाठी मारकर ठीक करूंगा। प्रार्थी बुधवार को दिनांक-08.05. 2024 को जब अपने नीजि कार्य से 9 बजे राबर्ट्सगंज कस्बा आया हुआ था तब प्रार्थी की पत्नी ने प्रार्थी को बताया कि घर पर चौकी इंचार्ज चकरिया पुलिस बल के साथ प्रार्थी के घर आये हुए हैं और बोल रहे है कि उमाशंकर यादव को समझा दो वरना मारकर बर्बाद कर देंगे। प्रार्थी इस घटना क्रम से काफी भयभीत है। चौकी इंचार्ज चकरिया श्री मनोज सिंह के डर भय के कारण अपने घर नही जा रहा है।

वही पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर बताया कि उपरोक्त मामले को संज्ञान में लेकर आवश्यक कार्यवाही करने की कृपा करें।

Leave a Comment

[democracy id="1"]