लापता युवक का एक वर्ष बाद मिला सिर व पैर का कंकाल, जांच में जुटी पुलिस

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

सी एस पांडेय

बभनी थाना क्षेत्र के पोखरा परसाटोला गांव का मामला

मृतक युवक की मां ने घटना स्थल से मिले गमछा और लोवर से किया बेटे का पहचान

सोनभद्र। जनपद में बभनी थाना क्षेत्र के पोखरा ग्राम पंचायत के परसाटोला गांव में बंधे के किनारे पड़े नर कंकाल का सिर व एक पैर मिला। कंकाल के पास से लोवर और गमछा भी मिलने पर उसकी पहचान एक पूर्व गयाब हुए राम प्रकाश के रूप में उसकी  मां ने पहचान किया,जिससे परिजनों में कोहराम मच गया। वही नर कंकाल मिलने के बाद गांव में हड़कंप मच गया, गांव के लोगों तथा मृतक की मां ने गमछे और लोवर से अपना बेटा होने का आशंका जताई है। हालांकि सूचना पर पहुंची पुलिस ने मिले कंकाल सिर और पैर को पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी भेजवा दिया।

जानकारी के अनुसार राम प्रकाश पुत्र रामकिसुन 35 वर्ष निवासी परसाटोला पोखरा पिछले एक साल से घर से गायब था। परिजनों ने नात रिश्तेदारी में काफी खोजबीन की लेकिन कहीं पता नहीं चला तो घर वाले गायब होने की सूचना थाने पर भी दी लेकिन कोई ठोस परिणाम नहीं निकला।

गांव के लोग बंधे में मछली मार रहे थे वही बंधे के किनारे एक छोर पर कंकाल दिखाई दिया जहाँ एक किनारे सिर और दूसरे छोर पर एक पैर का कंकाल मिला।सिर के पास गमछा और पैर के पास लोवर मिला लोगों ने इसकी खबर गांवों वालों और गायब हुए परिजनों को दिया। वही कंकाल मिलने की सूचना पर शनिवार को सुबह गांव के तथा परिजन बंधें पर पहुंचे। मृतक की मां अजोरिया देवी ने गमछे और लोवर को देखते ही पहचान गयी और मिले कंकाल को अपने बेटे का कंकाल होने का आशंका जताई। मृतक के चाचा गजानंद और भाई रामकेवल ने बताया कि पिछले वर्ष चैनपुर निवासी अशोक गुप्ता अपने साथ रामप्रकाश को लेकर शाम को घर से निकला था। इसके बाद से वह घर वापस नहीं लौटा।

जब घरवालों ने अशोक से पूछा तो उसने परसाटोला तिराहे पर उसे छोड़ने की बात कहकर चलता बना। घरवालों ने इसकी सूचना बभनी पुलिस को भी दिया था लेकिन कोई ठोस पहल नही हुआ। कंकाल मिलने के बाद गांव में हड़कंप मच गया है।मृतक की मां अंजोरिया देवी का बेटे के वियोग में रो रो कर बुरा हाल हो गया है।उधर प्रभारी निरीक्षक सदानंद राय ने बताया कि मिले कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक से पुत्र के हत्या की तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई थी। मृतक की मां अंजोरिया ने पुत्र की तलाश के लिए बभनी पुलिस, तहसील दिवस सहित पुलिस अधीक्षक तक न्याय की गुहार लगाई थी।मां ने पत्नि सहित बगल के गांव के युवक पर हत्या करने का आरोप लगाया था।मां कि शिकायत पर बभनी पुलिस ने 22 जुलाई 2023 को मृतक की गुमशुदगी दर्ज कर लिया था।इसके बाद मां ने पुलिस अधीक्षक को दो लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर देकर पुत्र को गायब करने व हत्या की तहरीर दी थी लेकिन इस पर कोई कार्यवाही नहीं किया जा सका लगभग एक वर्ष बाद मृतक का कंकाल घर से 500 मीटर दूर बंधे में मिला। वही मृतक युवक के तीन बच्चे हैं।

Leave a Comment