जिले में कोयला चोरी का खेल जारी, पुलिस ने चार तस्करों को किया गिरफ्तार

Share this post

सोनभद्र। सूबे को चार राज्यो की सीमाओं से जोड़ने वाले इस जिले में अपार खनिज सम्पदायें कोयला, डोलो स्टोन, बालू – मोरंग इत्यादि सम्पदाओं के दम पर ही यहाँ अनेकों औद्योगिक इकाई स्थापित है , जिनमे एनसीएल ,एनटीपीसी सहित हिंडाल्को की एल्मुनियम , सीमेंट , कार्बन और कैमिकल इकाई शामिल है। यहाँ स्थापित नार्दन कोल इंडिया खदानों से कोयला का खेल बड़े पैमाने खेला जाता है , जिसका खुलासा जिला प्रशासन ने कुछ माह पहले किया था तो वही आज पुलिस ने को एक बड़ी कामयाबी दर्ज की।

एसटीएफ की तरफ से तेल के खेल के किए गए पर्दाफाश के बाद, सोनभद्र पुलिस की तरफ से एनसीएल की खदानों से राजस्थान के लिए चित्तौड़ जाने वाले कोयले को, फर्जी कागजातों के जरिए चंदासी मंडी पहुंचाने के खेल का पर्दाफाश कर हड़कंप मचा दिया है। पुलिस अधीक्षक यशवीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का खुलासा किया। दो दिन तक चली कार्रवाई में जहां मास्टरमाइंड सहित रैकेट से जुड़े 13 लोग चिन्हित कर लिए गए हैं। वहीं चार को गिरफ्तार कर लिया गया है। कोयला लदे तीन ट्रक की भी बरामदगी की गई है।

एसपी डा. यशवीर सिंह ने बताया कि इसकी जड़़ें मध्य प्रदेश के सिंगरौल उत्तर प्रदेश के सोनभद्र, वाराणसी, चंदौली सहित अन्य जगहों से जुड़ी हुई हैं। इस रैकेट से और कौन-कौन जुड़े हैं तथा इसका दायरा कहां तक फैला है। इसकी जानकारी कराई जा रही है। सूचना के आधार पर चोपन और राबटर्सगंज पुलिस ने अपने-अपने एरिया में शुक्रवार की देर शाम चेकिंग की तो फर्जी कागजात के आधार पर कोयला परिवहन कर रहे तीन ट्रक पकड़े गए। दो ट्रक चोपन पुलिस ने पकड़ा, एक ट्रक राबटर्सगंज पुलिस के हत्थे चढ़ा। हाइवे के अन्य थानों को भी कोयला चोरी पर नजर रखने और मामले का पता चलते ही कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

पुलिस को चोपन में पकड़े गए ट्रक चालक पवन यादव निवासी मधुपुर, थाना राबटर्सगंज और परमेश्वर यादव निवासी सलखन देवरिया टोला, थाना चोपन से पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर उनको फर्जी कागजात सौंपने वाले दिलीप जायसवाल पुत्र राधेश्याम जायसवाल निवासी डिबुलगंज, थाना अनपरा को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं इस गिरोह के मास्टरमाइंड बबलू सिंह निवासी सिंगरौली बड़े मंदिर के पास, मोरवा, विजेंद्र जायसवाल पुत्र हरिराम जायसवाल निवासी पहड़िया रोड जेडी नगर। कालोनी ओखा वाराणसी, बृजेश कुमार जायसवाल पुत्र देवनारायण जायसवाल निवासी बड़े मंदिर के पास, थाना मोरवा, सिंगरौली को चिन्हित किया गया। वही राबटर्सगंज में पकड़े गए चालक राजनारायण यादव निवासी तिनताली थाना राबटर्सगंज से मिली जानकारी के आधार पर ट्रक मालिक उर्मिला पांडेय, धर्मेंद्र यादव, कमलेश यादव, मेसर्स सुपर इंटरप्राइजेज अनपरा, परासी सप्लायर और खरीददार मेसर्स सिंह इंटरप्राइजेज कोल मंडी चंदासी, मुगलसराय, चंदौली को चिन्हित किया गया है। कुछ और लोग को तस्करी के इस रैकेट में शामिल होने की जानकारी मिली, जिसको लेकर छानबीन जारी है।

पुलिस अधीक्षक डॉ यशवीर सिंह के मुताबिक एनसीएल की बीना परियोजना से राजस्थान के चित्तौड़ जिले में भीलवाड़ा जाने वाले कोयले को, राजस्थान की बजाय चंदासी मंडी पहुंचाने के लिए, रैकेट का मास्टरमाइंड बबलू, संबंधित ट्रक मालिक और चालक को पहले ही सेट करता था। इसके बाद दिलीप जायसवाल को वाहन नंबर और चालक का नंबर वाट्सअप के जरिए भेज देता था। बीना परियोजना से कोयला लदी गाड़ी बाहर आने पर, चालक से असली कागजात लेकर, उसे डिबुलगंज यार्ड के यार्ड के नाम पर बना फर्जी कागजात थमा दिया जाता था। अनपरा के एक फर्म के जरिए इसकी आपूर्ति दिखाई जाती थी। डिबुलगंज सहित अन्य कोल यार्डों के जरिए कोल तस्करी का रैकेट संचालित हो।फिलहाल इसकी तह तक जाकर पूरे सिंडिकेट का खुलासा किया जाएगा। एसपी की तरफ से डीएम और खान अधिकारी को जांच कर कार्रवाई के लिए पत्र भेजा जा रहा है। इसी तरह सलईबनवा में बड़े स्तर पर होने वाली कोयला डंपिंग के भी जांच निर्देश दिए गए हैं।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 7 4 1 2
Users Today : 10
Users This Month : 66
Total Users : 7412
Views Today : 14
Views This Month : 133
Total views : 16819

Radio Live