माटी कलाकारों को जल्द मिलेगी मुफ्त बिजली : हरेन्द्र प्रजापति

Share this post

माटी कलाकारों को इलेक्ट्रिक चाक का किया गया निःशुल्क वितरण

सोनभद्र। प्रदेश सरकार माटी कलाकारों को प्रोत्साहन देने के लिए इलेक्ट्रिक चाक और दीपावली के त्यौहार पर लक्ष्मी गणेश की मूर्ति को लेकर साँचा वितरण कर रही है। आज सोनभद्र जिले में हाशिए पर पड़े माटी कलाकारो को सशक्त बनाने व उनकी आमदनी दोगुनी करने के लिए खादी ग्रामोद्योग व माटी कला बोर्ड द्वारा प्रशिक्षित कुम्हारों को निःशुल्क इलेक्ट्रानिक चाक उपलब्ध कराया गया। इस मौके पर 25 माटी कलाकारों को इलेक्ट्रिक चाक और साँचा वितरित किया गया। वही माटी कला बोर्ड के सदस्य हरेन्द्र प्रजापति ने कहा कि योगी सरकार माटी कलाकारों चाहे वह किसी जाति धर्म के हो ऐसे प्रशिक्षित कलाकारों को इलेक्ट्रिक चाक और लक्ष्मी गणेश का साँचा वितरित किया गया है। इससे वह दीपावली तक मूर्ति का निर्माण करके अपनी आमदनी बढ़ा सकेंगे। इसके साथ ही बोर्ड ने मुख्यमंत्री के समक्ष यह प्रस्ताव रखा है कि माटी कलाकरों को इलेक्ट्रिक चाक चलाने के लिए 500 महीने बिजली का खर्च दिया जाय।

जिले में मिट्टी के बर्तन व कुम्हारों के जीवन स्तर को उठाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक व थर्माकोल से बने बर्तनों का चलन बंद करने की स्वयं अपील कर चुके हैं तथा प्रदेश सरकार भी प्लास्टिक का चलन रोकने के लिए प्रतिबद्ध है। ऐसी दशा में मिट्टी से तैयार बर्तनों को बढ़ावा दिया जाना है। जिससे प्रदूषण में भी कम होगा तथा कुम्हारी कला से जुड़े परिवारों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। प्लास्टिक की बजाए मिट्टी के बर्तनों का उपयोग करने से लोगों की सेहत भी अच्छी रहेगी। माटी कला टूल किट वितरण योजना के तहत जनपद सोनभद्र में चयनित 25 कुम्हारों को इलेक्ट्रिक चाक का निःशुल्क वितरण कर उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का प्रयास किया गया है। अब इसकी मदद से कम समय में अधिक उत्पादन कर सकेंगे।

जिला ग्रामोद्योग अधिकारी विनोद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का पात्र लाभार्थियों को लाभ दिया जा रहा है। आज 25 लाभार्थियों को इलेक्ट्रिक चाक और लक्ष्मी गणेश की मूर्ति का साँचा दिया गया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग के तहत लोन दिया जाता है ।

वही लाभार्थी फूलमती ने बताया कि सरकार की योजना सराहनीय है। पहले हम लोग चाक को हाथ से घुमाकर मिट्टी के बर्तन बनाते थे जिसमें समय व मेहनत अधिक उत्पादन कम था । लेकिन इलेक्ट्रिक चाक मिल जाने से प्रोडक्शन दोगुना हो जायेगा साथ ही मिट्टी के बर्तनों की मांग बढ़ी है लोग चाय व लस्सी कुल्लड़ में पसन्द कर रहे है और मिट्टी के बर्तनों की प्राथमिकता दे रहे हैं। हमारी आमदनी बढ़ जायेगी जिससे परिवार की आजीविका अच्छे से चलेगी।

वही माटी कला बोर्ड के सदस्य हरेन्द्र प्रजापति ने कहा कि योगी सरकार माटी कलाकारों चाहे वह किसी जाति धर्म के हो ऐसे प्रशिक्षित कलाकारों को इलेक्ट्रिक चाक और लक्ष्मी गणेश का साँचा वितरित किया गया है। इससे वह दीपावली तक मूर्ति का निर्माण करके अपनी आमदनी बढ़ा सकेंगे। इसके साथ ही बोर्ड ने मुख्यमंत्री के समक्ष यह प्रस्ताव रखा है कि माटी कलाकरों को इलेक्ट्रिक चाक चलाने के लिए 500 महीने बिजली का खर्च दिया जाय।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 7 4 1 1
Users Today : 9
Users This Month : 65
Total Users : 7411
Views Today : 13
Views This Month : 132
Total views : 16818

Radio Live