मिड डे मील में नमक रोटी का वीडियो वायरल , डीएम ने किया जांच टीम गठित

Share this post

वायरल वीडियो में एक स्वर में नमक रोटी खाने की बात कह रहे बच्चे

घोरावल(सोनभद्र)। केन्द्र सरकार शिक्षा नीति में बदलाव करके शिक्षण व्यवस्था में सुधार लाना चाहती है और प्रदेश की योगी सरकार सरकारी विद्यालयों को हाईटेक बनाकर इंग्लिश मीडियम बनाने में लगी है। वही अति पिछड़े जनपद में मिड-डे-मील का हाल बदहाल है यहाँ बच्चों से जब पूछा गया कि कल क्या खाया था? सभी एक स्वर में बोले- नमक और रोटी

जिले के घोरावल तहसील क्षेत्र के उच्च प्राथमिक विद्यालय कम्पोजिट गुरेठ में मिड-डे मील वितरण के दौरान छात्रों को नमक के साथ रोटी परोसी गई। इन बच्चों के साथ बातचीत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मिड-डे-मील योजना स्कूली बच्चों को पोषणयुक्त भोजन देने के लिए है। इस योजना पर सरकार सालाना हजारों करोड़ रुपये खर्च करती है। इस वायरल वीडियो से जिला प्रशासन व बेसिक शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया है।

स्कूली बच्चों को नमक रोटी दिए जाने की घटना सोमवार की बताई जा रही है, जिसका वीडियो मंगलवार देर शाम वायरल हुआ। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिखाया गया है कि एक व्यक्ति घोरावल क्षेत्र के गुरेठ स्थित कम्पोजिट विद्यालय के अलग – अलग कक्षाओं में जाकर छात्र-छात्राओं से पूछता है कि उन्हें कल यानी सोमवार (22 अगस्त) को मिड-डे-मील में खाने के लिए क्या-क्या मिला था। जिसके जवाब में छात्र-छात्राएं एक स्वर से बता रहे हैं कि रोटी और नमक मिला था। इसके बाद वीडियो बनाने वाला शख्स अलग-अलग कुछ और कक्षाओं में जाकर छात्र-छात्राओं से यही सवाल पूछता है तो उनका जवाब वही होता है कि कल मिड डे मील में नमक रोटी मिली थी। वही एक अन्य वीडियो में वीडियो बनाने वाला शख्स विद्यालय के रसोई कक्ष में वीडियो बनाते हुए बता रहा है कि आज बच्चों को खाने में नमक-भात मिलेगा। वहां पर मौजूद दो महिलाओं ने कुछ जवाब नहीं दिया। 

कंपोजिट विद्यालय गुरेठ में प्राथमिक विद्यालय एवं जूनियर हाईस्कूल के कुल 249 बच्चे नामांकित हैं। प्राथमिक वर्ग में 125 बच्चे एवं जूनियर वर्ग में 124 बच्चे हैं। सभी बच्चों के लिए कुल मिलाकर चार गैस सिलिंडर मौजूद हैं। दो सिलिंडर भरवाने के लिए गया था। एक सिलिंडर में थोड़ी बहुत गैस थी, जिससे बड़ी मुश्किल से सिर्फ रोटी ही बन पाई। रसोई में सब्जी भी नही थी। इसलिए मजबूरन बच्चों को रोटी नमक खाना पड़ा।

इस सम्बंध में प्रधानाध्यापक रुद्र प्रसाद का कहना है कि आठ अगस्त 2022 से ग्राम प्रधान ने स्वयं मिड-डे- मील बनवाने की जिम्मेदारी ले रखी है। मिड डे मील मेन्यू के अनुसार सोमवार को बच्चों को रोटी-सब्जी, रोटी-दाल या रोटी व सब्जी मिश्रित दाल दी जानी थी, उस दिन रसोई में सब्जी नहीं थी और गैस सिलिंडर में गैस खत्म हो गई थी। जिसकी सूचना सोमवार सुबह ही ग्राम प्रधान को दे दी गई थी, लेकिन उन्होंने सिलिंडर समय पर नहीं भिजवाया। दोपहर बाद करीब पौने दो बजे विद्यालय में गैस सिलिंडर पहुंचा। गैस सिलिंडर व सब्जी उपलब्ध न होने से बच्चों को मिड-डे-मील में नमक व रोटी दी गई। 

शिक्षा क्षेत्र घोरावल के गुरेठ ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि प्रभुनारायण का कहना है कि मिड-डे-मील की सामग्री कम होने या खत्म होने की जानकारी मिलते ही वह तत्परता से सामग्री उपलब्ध करा देते हैं। 22 अगस्त सोमवार को 11 बजे उन्हें सूचना मिली कि गैस खत्म हो सकती है। सूचना मिलते ही स्कूल में सिलिंडर भेजवा दिया। रसोई में सब्जी उपलब्ध न होने की सूचना उन्हें किसी ने नहीं दी।

इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने बताया कि मिड डे मील में नमक और रोटी खाने का वायरल वीडियो को देखा व सुना गया है , इसकी जांच बेसिक शिक्षा अधिकारी से कराई जा रही है। इस वीडियो के अनुसार प्रथम दृष्टया ग्राम प्रधान और प्रधानाध्यापक की लापरवाही दिख रही है। इस जांच में जो दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 7 3 7 9
Users Today : 16
Users This Month : 33
Total Users : 7379
Views Today : 37
Views This Month : 76
Total views : 16762

Radio Live