उभ्भा कांड की तीसरी बरसी आज, पुलिस छावनी में तब्दील रहा पूरा गांव

Share this post

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

सोनभद्र। उभ्भा कांड की तीसरी बरसी पर आज पूरे उभ्भा गांव को सील कर दिया गया है। वही गांव में जाने वाले सभी रास्तों पर पुलिस ने बैरियर लगाकर बाहरी लोगों के आनेजाने पर रोक लगाई है। आज ही के दिन 3 वर्ष पूर्व 17 जुलाई 2019 को जमीन के लिए हुआ था खूनी खेल हुआ था जिसमे 11 आदिवासियों की जाने गयी थी।

घोरावल के कस्बा उम्भा ग्राम में 17 जुलाई 2019 को जमीनी विवाद को लेकर के ताबड़तोड़ गोलियां चली थी जिसमें 10से 11 लोग शहीद हो गए थें . दिनांक 17,07,2022 को शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए हम सब आज उमभा में पहुंचकर कार्यक्रम को सफल बनाने की कोशिश की गई आज पूरे ग्राम को पुलिस छावनी में रखा गया और शहीदों को श्रद्धांजलि देने से पुलिस बल द्वारा रोका गया धारा 144 को मध्य नजर रखते हुए घोरावल तहसील दार साहब को कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष रामराज सिंह गोंड द्वारा ज्ञापन दिया गया, जिसमें जिला सोनभद्र के एसपी साहब एडीएम साहब , सीओ साहब थानाध्यक्ष घोरावल थाना अध्यक्ष करमा थाना अध्यक्ष शाहगंज और पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामराज गोंड़ ने कहा कि 17 जुलाई 2019 को गांव में जमीनी विवाद को लेकर आदिवासियों पर गोली चलाई गई जिसमें 11 आदिवासियों की मौत हुई थी। इस घटना की तीसरी बरसी मनाने से जिला प्रशासन ने धारा 144 का हवाला देते हुए रोक दिया और पुलिस छावनी में गांव को तब्दील कर दिया गया है।तहसीलदार को दिए ज्ञापन में जिला प्रशासन से मांग है कि गयी है की घटना स्थल पर शहीद हुए आदिवासियों का शहीद स्मारक बनाने के लिए जिला प्रशासन जमीन उपलब्ध कराये। समुदायिक भवन का निर्माण कराया जाय। ग्राम पंचायत मूर्तिया के उम्भा गाँव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री दो बार आये चाहे शिक्षा की व्यवस्था हो, गाँव की बिजली की व्यवस्था हो या सिंचाई की व्यवस्था हो सरकार का दावा यहां पूरी तरह से फेल है। कार्यक्रम में जिला उपाध्यक्ष मुराद अली, रामप्यारे सिंह गौड़, रामपति सिंह गौड़, राम कुंवर सिंह गौड़, बहादुर सिंह गौड़, रामनरेश सिंह गौड़ वीडीसी, शांति देवी गौड अनीता देवी गौड, आदि लोग मौजूद रहे।

बताते चले कि प्रियंका गांधी के उभ्भा पहुचने की सूचना पर प्रदेश सरकार ने उनके काफिले को रोक कर राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ा दी। अपनी साख बचाने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक को उम्भा गाँव आना पड़ा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उम्भा गांव से घोषणा किया था जिस जमीन के लिए आदिवासियों की जाने गयी है उस जमीन के तह में जा कर जांच की जाएगी। उनके घोषणा के बाद जमीन के मामले में आई तेज़ी में आदर्श सहकारी कृषि समिति उम्भा के साथ 13 समितियों को नोटिस भेज कर कार्यवाही तेज़ कर दी गयी है । उम्भा गाँव के जमीन व समितियों की जाँच अभी चल रही है ।

देश की राजनीति में 17 जुलाई को जमीन कब्जा विवाद में 11 आदिवासियों की गोली मार कर की गयी हत्या ने हलचल मचा दिया था जिसके बाद मुख्यमंत्री ने सोसाईटी की जांच करने का निर्देश दिया था। जिसके बाद सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता ने जिले की 13 सहकारी समितियो को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। इन सहकारी समितियों को नोटिस जारी करने पर सहायक निबन्धक अधिकारी का कहना है कि उम्भा गांव में आदर्श कोआपरेटिव सोसाईटी का नाम सामने आने के बाद निष्क्रिय हो चुकी समितियो की जांच के लिए नोटिस जारी किया गया है। जिनके द्वारा कोई स्पष्टीकरण नही आने पर कार्रवाई के लिए शासन को रिपोर्ट भेजी जायेगी ।

घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव में 17 जुलाई को ग्राम प्रधान द्वारा अपने समर्थकों संग मिलकर गोंड़ आदिवासियो की जमीन को कब्जा करने का प्रयास किया गया जिसमे ग्राम प्रधान की तरफ से चलाई गई गोली से 11 आदिवासियो की मौत हुई थी। जिसमे बाद यहां 1955 से कार्य कर रही आदर्श कोऑपरेटिव सोसाईटी का नाम सामने आया था जिसके नाम लगभग 639 बीघा जमीन है तो वही आदिवासियो द्वारा अपनी पुश्तैनी जमीन पर जोत कोड किया जाता था , जिस पर ग्राम प्रधान द्वारा बैनामा बताकर कब्जा किया जा रहा था। जिसका आदिवासियो द्वारा विरोध किया गया था। इस घटना के बाद देश की राजनीति में हलचल मचा दिया और सभी दलों के नेताओ द्वारा उम्भा गांव का दौरा किया गया यहां तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं 21 जुलाई को गांव का दौरा किया। जिसके बाद उन्होंने जिले की सभी प्रकार की जमीनी विवाद के लिए राजस्व परिषद अध्यक्ष को कमेटी बनाकर जांच करने का निर्देश दिया था। यह कमेटी 1955 से लेकर 2019 तक के जमीन विवादों का जांच करेगी। इस जांच की जद में जिले की 13 कोऑपरेटिव सोसाईटी भी शामिल है जो अपने निबंधन के समय से ही निष्क्रिय है। जिसके बाद सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता ने नोटिस जारी किया है। जिसकी कार्यवाही अभी चल रही है ।

 सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता ने जिले की संयुक्त सहकारी कृषि समिति ढेढ़ी , संयुक्त सहकारी कृषि समिति अरुआव , आदर्श सहकारी कृषि  समिति उम्भा , ग्राम कल्याण सहकारी कृषि समिति  अकछोर , सर्वोदय सहकारी कृषि समिति पत्थरताल , भूतपर्व सैनिक संयुक्त सहकारी कृषि समिति लिमिटेड चोपन , पेढ़ सामूहिक सहकारी कृषि समिति लिमिटेड, महुआव आदर्श सहकारी कृषि समिति लिमिटेड , राजपूत सहकारी कृषि समिति लिमिटेड केवटा, अवध सहकारी खेती समिति लिमिटेड सिरसाई, भैसवार कृषि सहकारी समिति लिमिटेड, सामूहिक सहकारी कृषि समिति लिमिटेड बरौधी , नवीन सहकारी कृषि समिति लिमिटेड को नोटिस जारी किया गया है। कार्यवाही अभी भी चल रही है ।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 5 7 8 3
Users Today : 24
Users This Month : 304
Total Users : 5783
Views Today : 42
Views This Month : 591
Total views : 12590

Radio Live