राज्यपाल ने जनपद में फासिल्स टूरिज्म एजुकेशन सेंटर खोलने पर दिया जोर

Share this post

हिन्दुस्तान की अमूल्य धरोहर सलखन फासिल्स पार्क का राज्यपाल ने किया अवलोकन

सलखन फासिल्स पार्क सहित जनपद के अन्य पर्यटक क्षेत्रों के प्रचार-प्रसार हेतु साइन बोर्ड के माध्यम से लोगों को दी जाये जानकारी- राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल

सोनभद्र। प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल दो दिनी दौरे पर सोनभद्र पहुंची। राज्यपाल स्टाफ कार द्वारा जिले के सर्किट हाउस मोड़ पर पहुंची जहां पर महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्रीमती आनंदी बेन पटेल जी का स्वागत डी0आई0जी0 विंध्याचल परिक्षेत्र मिर्जापुर श्री रामकृष्ण भारद्वाज, जिलाधिकारी सोनभद्र चन्द्र विजय सिंह, जिलाधिकारी मिर्जापुर प्रवीण कुमार लक्षकार, पुलिस अधीक्षक सोनभद्र अमरेंद्र प्रसाद सिंह, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। राज्यपाल ने वरिष्ठ अधिकारियों के कुशल क्षेम की जानकारी प्राप्त की और वरिष्ठ अधिकारियों से वार्ता भी की। महामहिम राज्यपाल महोदया हिन्दुस्तान की अमूल्य धरोहर सलखन फासिल्स पार्क पहुंचकर फासिल्स को देखा। इस दौरान महामहिम ने फासिल्स पार्क के इतिहास के सम्बन्ध में डीएफओ से जानकारी प्राप्त किया। डीफएओ द्वारा बताया गया कि यह फासिल्स प्रिकैम्बियन काल का माना गया है, इसका अनुसंधान देश-विदेश के वैज्ञानिकों द्वारा किया गया है तथा उनके द्वारा घोषित किया गया है कि यह फाफिल्स लगभग 150 करोड़ वर्ष पुराना है। वैज्ञानिकों द्वारा यह भी बताया गया है कि यहां का फासिल्स अमेरिका के एलो स्टोन फासिल्स से भी अधिक मात्रा में मौजूद हैं, जो विश्व का नम्बर-1 फासिल्स माना गया है। पूर्व में इस फासिल्स को प्राउड ऑफ सलखन के नाम से जाना जाता था। इसके पश्चात सोन इंको प्वाइंट से यहा प्राकृतिक सुन्दरता को देखा और इको प्लाइंट परिसर मे स्थापित गणेश भगवान की प्रतिमा और पुष्प अर्पित किया।

उन्होंने इस दौरान पर्यटन के दृष्टिगत यहां की प्राकृतिक छटा के आकर्षण के बारे में पर्यटन अधिकारी से जानकारी प्राप्त की, तो क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद पौराणिक, अध्यात्मिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक धरोहरों से भरपुर है। यह कृदन्ती नहीं है, बल्कि इसके लिखित एवं स्पष्ट प्रमाण भी मिलते हैं, जैसे-महाराज दुश्यन्त एवं शकुन्तला की प्रेम कहानी, कण्वऋषि के आश्रम में महाराज भरत का जन्म, दुर्वासा ऋषि द्वारा शकुन्तला को श्राप, चन्द्रकान्ता की कहानी, बाबा मछन्दरनाथ बाबा तपोस्थली, यहां के भित्त चित्र की विस्तृत रूप से जानकारी दी।

फासिल्स पार्क में निरीक्षण करती व जानकारी लेती राज्यपाल

इसके पश्चात राज्यपाल ने कहा कि जनपद को पर्यटन क्षेत्र में बेहतर ढंग से विकसित करने के लिए जनपद की सड़कों के किनारे साइन बोर्ड के माध्यम से जनपद के पर्यटन की जानकारी लोगों को दी जाये। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि फासिल्स टूरिज्म एजुकेशन सेन्टर की स्थापना भी जनपद में की जाये, जिससे जनपद को पर्यटन के क्षेत्र में विकसित किया जा सके और अधिक से अधिक पर्यटक जनपद में आयें। जनपद के आदिवासी लोक नृत्य कर्मा को देखा और उसकी सराहना की और इसके सम्बन्ध में डायरेक्टर एडवेंचर टूरिज्म नीरज द्विवेदी से जानकारी भी प्राप्त की।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 4 5 7 7
Users Today : 18
Users This Month : 18
Total Users : 4577
Views Today : 36
Views This Month : 36
Total views : 9904

Radio Live