बायोटेक परियोजना के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी हो रही: डॉ मोहम्मद असलम

Share this post

मधुपुर(सोनभद्र)। भारत सरकार के जैव प्रोद्योगकी विभाग द्वारा वित्तपोषित एवं फॉर्ड फाउंडेशन व भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान वाराणसी द्वारा संचालित बायोटेक किसान परियोजना के अंतर्गत आकांक्षी जिला सोनभद्र के घोरावल विकास खंड के लोहरा में स्थित निजी महाविद्यालय के प्रांगण में विशाल किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया गया एवं ग्राम गौरही में प्रक्षेत्र भ्रमण किया गया।

किसान मेले में मुख्य रूप से रानी लक्ष्मी बाई केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय झांसी के कुलाधिपति एवं फॉर्ड फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो० पंजाब सिंह,पूर्व संकाय प्रमुख डॉ. ऋषि मुनि सिंह (बीएचयू), डॉ. एस. आर .सिंह (पूर्व निदेशेक,आईएएस,काशी हिन्दू विश्वविद्यालय), डॉ. मोहम्मद असलम (परामर्शदाता,जैव प्रौद्योगिकी विभाग,विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार),के अतिरिक्त अंतरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान के निदेशेक डॉ.सुधांशु सिंह , डॉ• उमेश सिंह, (ट्रस्टी फार्ड फाउंडेशन एवम ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट ऑफिसर, काशी हिंदू विश्वविद्यालय के पीआरओ व फार्ड ट्रस्टी डॉ. राजेश सिंह काशी हिन्दू विश्वविद्यालय), डॉ. संतोष सिंह (वरिष्ठ वैज्ञानिक, आई.एम.एस., काशी हिन्दू विश्वविद्यालय),भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान के निदेशेक डॉ. टीके बेहरा एवं प्रधान वैज्ञानिक डॉ०नीरज सिंह आदि ने संबोधित किया।

कार्यक्रम का उदघाटन मुख्य अतिथि डॉ.मोहम्मद असलम द्वारा फीता काट कर किया गया।डॉ.टी.के बेहरा ने किसानों को बायोटेक परियोजना के विषय मे जानकारी देते हुए कहा कि ये योजना किसानों के लिए मील का पत्थर साबित हो रहा है।इस परियोजना के माध्यम से किसान की आय दोगुनी हो रही है जिसमे किसान बकरी पालन, मत्स्य पालन एवं अन्य उद्द्योग से जुड़ के आय प्राप्त कर रहें है। संरक्षित खेती के विषय मे जानकारी देते हुए इन्होंने कहा कि ये आय का एक मुख्य कारक सिद्ध होगा जिससे किसान कम जोत से ज्यादा मुनाफा प्राप्त कर सकते है। प्रो. आर एम सिंह ने किसानों को संबोधित करते हुए बायोटेक किसान योजना के दो साल होने की बधाई दी।किसानों को इस योजना की विस्तृत जानकारों देते हुए प्रोफेसर सिंह ने बताया कि आज किसान ब्रीडर बीज प्राप्त कर बीज उत्पादन से बहुत अच्छा लाभ ले रहे है साथ ही जौ, चना, मटर, मूंग ,उर्द की उन्नतशील प्रजातियों से किसान का उत्पादन बढ़ा है जिससे किसान अच्छा लाभ प्राप्त कर रहा।साथ ही किसानों को अलग अलग संस्थान द्वारा प्रशिक्षित किये जाने से इन्हें लाभ प्राप्त हो रहा।

विशिष्ठ अथिति डॉ.सुधांशु सिंह सभी वैज्ञानिको एवं किसानों को धन्यवाद करते हुए किसानों को विक्रम संवत की बधाई दी।ग्राम गौरही के उन्नतशील किसान विद्यापति के कार्य की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे उदाहरण हमे अन्य किसानों से सांझा करनी चाहिए जिससे किसानों को प्रेरणा मिले।संबोधन में इन्होंने कृषि को व्यापार की तरफ ले जाने को किसानों को प्रेरित किया जिससे कि हमारी कृषि भी अंतरराष्ट्रीय स्तर की बने।डॉ सिंह ने अंतरष्ट्रीय चावल संस्थान की उपलब्धियों के विषय किसानों को बताया और किसानों के साथ कंधे से कंधा मिला कर कार्य करने का आश्वासन दिया।

डॉ.दिनेश गुप्ता उप कृषि निदेशेक सोनभद्र द्वारा राज्य सरकार की समस्त कृषि योजनाओं की जानकारी किसानों को प्रदान की जिसमें कृषि यंत्रीकरण ,किसान सम्मान निधि एवं अन्य योजनाओं की सम्पूर्ण जानकारी शामिल थी,फसल अवशेष प्रबंधन हेतु डिकॉम्पोज़र के इस्तेमाल हेतु निवेदन किया जिससे प्रदूषण में कमी आये। किसान फेलोशिप अवार्ड हेतु सोनभद्र एवं वाराणसी के दस-दस चयनिय किसानों को दस हज़ार रुपये एवं कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। साथ ही आठ किसानों को उनके उत्कृष्ठ कार्य हेतु प्रशस्त्री पत्र एवं अंगवस्त्रं माननीय मुख्य अतिथि डॉ मोहम्मद असलम एवं प्रोफेसर पंजाब सिंह द्वारा प्रदान किया गया।

सोनभद्र से विद्यापति मौर्य एवं वाराणसी से सुभाष चंद्र पटेल ने अपनी कृषि तकनीकी के विषय में जानकारी अपने किसान भाइयों को प्रदान की।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ.मोहम्मद असलम द्वारा वैज्ञानिको एवं किसानों का अभिनंदन किया गया।इस योजना से ऐसा प्लेटफार्म तैयार हुआ है जिससे किसान वैज्ञानिको से सीधे तौर पे जुड़ गए है।177 में 112 एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक में कार्य पूरे देश मे सफलतापूर्वक संचालित हो रहा है।और फॉर्ड फाउंडेशन को बधाई देते हुए इन्होंने कहा कि ये योजना आगामी तीन साल के लिए और बढ़ाया जा रहा है जिससे किसान और शशक्त बनेगा।प्रोफेसर पंजाब सिंह ने किसानों को मेले में समिलित होने की बहुत बधाई दी।डॉ सिंह ने किसानों को खेत से बाजार तक अपनी पहुँच को  विकसित करने की बात कही जिसमे फॉर्ड फाउंडेशन का पूर्ण सहयोग उपलब्ध रहेगा,साथ ही नई तकनीकी की उपलब्धता आप के गांव में ही होगी।भारत के 15 कृषि संस्थान फॉर्ड फाउंडेशन के साथ मिल कर कार्य कर रहीं है।बाजारीकरण के क्षेत्र में संस्था कार्य कर रही है जिससे किसान के उत्पादों का अच्छा मूल्य मिलेगा।इस देश का भविष्य किसानी ही है।

इस कार्यक्रम में सोनभद्र, वाराणसी एवं चंदौली के कृषि विज्ञान केंद्र के प्रमुख डॉ पीके सिंह,डॉ नरेंद्र रघुवंशी एवं डॉ एसपी सिंह इसके साथ ही किसान मेले में स्टाल लगा कर भागीदारी की साथ ही सोनवैली कृषक उत्पादक संगठन के निदेशेक सत्य प्रकाश पाण्डेय, उमा मेश्वर , एफपीओ के निदेशेक विनोद पाण्डेय , रामनाथ , रघुनाथ कृषक संगठन के निदेशेक मार्कण्डेय पाठक सहित यंग प्रोफेशनल तुषार कान्त,आदर्श सिंह,मधुकर पटेल, कमलेश यादव एवं सैकड़ो की संख्या में किसानों ने मेले में प्रतिभाग किया।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 5 8 7 7
Users Today : 15
Users This Month : 398
Total Users : 5877
Views Today : 37
Views This Month : 801
Total views : 12800

Radio Live