फार्मर्स-साइंटिस्ट कनेक्ट मीट का आयोजन, आधुनिक खेती पर हुई चर्चा

Share this post

आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत जैव प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार, द्वारा कार्यक्रम का आयोजन

फार्ड फाउंडेशन एवं सोनवैली एफ0पी0ओ0,उमामहेश्वर एफ0पी0ओ0,रामनाथ रघुनाथ संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में फार्मर्स-साइंटिस्ट कनेक्ट मीट

किसानों ने साझा की अपनी सफलता गाथा, सोनभद्र से जुड़े 500 से ज़्यादा किसान

सोनभद्र। भारतीय स्वतंत्रता के 75 गौरवशाली वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आयोजित आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार, के जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा वित्त पोषित बायोटेक किसान परियोजना के तहत आज देश के 75 ज़िलों में फार्मर्स-साइंटिस्ट कनेक्ट मीट का आयोजन किया गया। इस दौरान देश भर से करीब 75000 किसान एवं बड़ी संख्या में कृषि वैज्ञानिक कार्यक्रम से जुड़े। इसी क्रम में कृषि एवं ग्रामीण विकास के उत्थान की दिशा में पूर्वांचल में कार्यरत गैर शासकीय संगठन फार्ड फाउण्डेशन एवं कृषि विज्ञान संस्थान, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, के संयुक्त तत्वावधान में गायत्री अतिथि गृह प्रेक्षागृह में भी किसानों और वैज्ञानिकों के बीच संवाद का कार्यक्रम आयोजित किया गया। फार्ड फाउंडेशन के बैनर तले चार आकांक्षी ज़िलों सोनभद्र में प्रत्येक ज़िले से एक हज़ार से ज़्यादा किसान ऑफलाइन व ऑनलाइन माध्यम से जुड़े। इस प्रकार चारों ज़िलों से तकरीबन चार हज़ार किसानों ने कार्यक्रम का लाभ उठाया।

नई दिल्ली में मुख्य कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. जितेन्द्र प्रसाद ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बायोटेक किसान परियोजना किसानों के विकास व सशक्तिकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है और किसानों की आय में इज़ाफे के माननीय प्रधानमंत्री जी के लक्ष्य को हासिल करने में मददगार साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि आज का किसान पारंपरिक पद्धतियों से आगे बढ़कर कृषि-टेक्नोक्रैट व कृषि उद्यमी बन गया है। उन्होंने कहा कि कृषि एवं विज्ञान ऐसे दो क्षेत्र हैं जिनके आधार पर भारत विश्व गुरू बनने की राह पर अग्रसर है।

कार्यक्रम में प्रख्यात कृषि वैज्ञानिक एवं फार्ड फाउंडेशन के अध्यक्ष तथा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. पंजाब सिंह ने बताया कि चार आकांक्षी जिला सोनभद्र में फाउंडेशन के प्रयासों से लगभग 1000 हज़ार किसानों को बायोटेक किसान परियोजना का लाभ मिल रहा है। उन्होंने बताया कि महिला किसान व उद्यमी भी इस परियोजना के माध्यम ने आत्मनिर्भर बन रही हैं। इस दौरान फार्ड फाउंडेशन के माध्यम से लाभान्वित सोनभद्र ज़िले के एक प्रगतिशील किसान विद्यापति मौर्या ने इस परियोजना के माध्यम से अपनी सफलता गाथा भी साझा की। कार्यक्रम को सोनवैली एफ0पी0ओ0 के निदेशक सत्यप्रकाश देव पांडेय, नागेंद्र त्रिपाठी, उमामहेश्वर एफ0पी0ओ0 के निदेशक विनोद पांडेय ,नविन सिंह, रामनाथ रघुनाथ एफ0पी0ओ0 के निदेशक कौशलेश पाठक, . मारकण्डेय राम पाठक, फार्ड फाउंडेशन के मधुकर पटेल, रामपुर के प्रधान के साथ दर्जनों गांव के ग्राम प्रधान सहित 500 किसान प्रतिभाग किये।

Ravi pandey
Author: Ravi pandey

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 3 3 8 7
Users Today : 9
Users This Month : 351
Total Users : 3387
Views Today : 15
Views This Month : 581
Total views : 7635

Radio Live