दंगे की यादो पर ओवैसी की सियासत

Share this post

मुज़फ्फरनगर (उत्तर प्रदेश) प्रदेश मे 2022 विधानसभा चुनाव की तैयारी के चलते बुधवार को उत्तर प्रदेश के जनपद मुज़फ्फरनगर में AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष असद्दुदीन ओवैसी एक जनसभा को सम्बोधित करने पहुँचे।

असदुद्दीन ओवैसी

जहाँ उन्होंने मंच से 2013 के मुज़फ्फरनगर दंगे की यादो को ताज़ा करते हुए अपनी भाषणबाज़ी करी।

मंच से बोलते हुए ओवैसी ने कहाँ की मै जब यहाँ आ रहा था। तो मेरे पास उन लोगो ने फोन कर कहा की आप मुज़फ्फरनगर जा रहे है। आप अपने भाषण में मुज़फ्फरनगर फ़साद का ज़िक्र ना मत करना।उन्होंने कहा आप भड़काऊ भाषण मत दीजियेगा। में आपको बता दू ये ही इन लोगो की सोच है। जो गरीब मुस्लमानो का दिल्ली लखनऊ में बैठकर सौदा करते है। अरे ना इंसाफ़ी का जिक्र करना चाहिए,में मेरठ , हाशिमपुरा , मुज़फ्फरनगर और मलियाला फसाद का जिक्र वोट हासिल करने के लिए नहीं कर रहा हूँ , मै इसलिए कर रहा हूँ , की ना इंसाफ़ी को नहीं भूलना चाहिए, जब आप ना इंसाफ़ी को भूल जायेगे तो दोबारा ना इंसाफ़ी होगी , आप ना इंसाफियो को जख्म को याद रखना , की यहाँ जख्म आया था ।

आप ये भी जानते है , की यहीं मुज़फ्फरनगर में CAA और NRC को लेकर प्रदर्शन हुआ था । में आप सबका शुक्रिया अदा करता हूँ , आपको सलाम करता हूँ , की जिस बेबाक़ी और बहादुरी के साथ आपने इसका विरोध किया।

ये ही नहीं ओवैसी ने तो पाकिस्तान और हिंदुस्तान के क्रिकेट मैच पर भी मिसाल तक दे डाली उन्होंने कहा की पाकिस्तान और हिंदुस्तान का मैच हुआ मैंने तो मोदी जी से कहा था , ये मैच मत खेलो आप मैंने तो कहा था । की आप मैच इसलिए मत खेलो क्युकि पकिस्तान से आतंकवादी कश्मीर में आकर वहाँ के नागरिको को गोली मार रहे है । वहाँ के 9 सिपाही को मार दिया , मगर मैच हुआ । खेल है,11 खिलाडी एक टीम में खेलते है,क्रिकेट में बदक़िस्मती से भारत मैच हार गया,तो क्या शमी एक खिलाडी था। 11 लोगो की टीम में , 11 लोगो की टीम थी , मग़र फ़िरकाफरस्ती बताने के लिए कहा रहा हूँ। टीम हारी को तकलीफ़ है । मग़र शमी पर जुम्मेदारी डाल की उसकी वजह से टीम हार गई , यही तो मुस्लमानो से नफ़रत है , जिसको आपको समझने की जरुरत है । शमी को गाली देने वालो को हम कहेगे की शमी जैसा बॉलर कभी नहीं मिलेगा ।

ओवैसी ने एक बार दंगे की तरफ़ ईशारा करते हुए कहाँ की उस समय सपा की सरकार थी। और क़रीब ७० मुस्लमान चुनाव जीत कर आये थे। तो मुज़फ्फरनगर में फिर फ़साद कैसे हुआ,और सोच सकते है,की अगर 70 एमएलए मुज़फ्फरनगर के फ़साद को नहीं रोक पाए और इंसाफ नहीं दिला पाए,तो फिर आप इसलिए इंसाफ नहीं कर पाए,क्युकि उनकी पार्टी ने उनकी जुबा पर टाला लगा दिया था।

Related Posts

Live Corona Update

Advertisement

Advertisement

Weather

+43
°
C
+45°
+37°
Delhi (National Capital Territory of India)
Wednesday, 30
Thursday
+44° +35°
Friday
+42° +35°
Saturday
+43° +34°
Sunday
+43° +35°
Monday
+44° +36°
Tuesday
+45° +36°
See 7-Day Forecast

 

Live Cricket Updates

Stock Market Overview

Our Visitors

0 0 5 8 7 7
Users Today : 15
Users This Month : 398
Total Users : 5877
Views Today : 37
Views This Month : 801
Total views : 12800

Radio Live